महाराष्ट्र के हालात पर ममता बोलीं- संवैधानिक पदों पर बैठे लोग भाजपा के प्रवक्ता बने हुए हैं



कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने महाराष्ट्र के हालात पर गुरुवार को तंज कसा। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश पर ममता ने कहा कि संवैधानिक पदों पर बैठे कुछ लोग भाजपा के प्रवक्ता बने हुए हैं। बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे यहां क्या हो रहा है, यह भी लोग देख रहे हैं। यहां भी समानांतर सरकार चलाने की कोशिश की जा रही है।

संघीय ढांचा संविधान के अनुरूप चलना चाहिए- ममता
ममता ने कहा कि आमतौर पर मैं संवैधानिक पदों पर बैठे व्यक्तियोंपर कुछ नहीं कहती। लेकिन, केंद्र और राज्य की सरकारें जनता चुनती है और संघीय ढांचे को संविधान के अनुरूप ही चलाना चाहिए और सरकारको चलने दिया जाना चाहिए। ममता ने आरोप लगाया- केंद्र ने राज्यों को 17 हजार करोड़ रुपए देने का वादा किया था, लेकिन यह अभी तक हासिल नहीं हुआ है। अर्थव्यवस्था की रफ्तार निचले स्तर पर है, राज्यों को भी नुकसान भुगतना पड़ रहा है।

धनखड़ ने कहा- हेलिकॉप्टर की मांग पर ध्यान ही नहीं दिया
इस बीच, बंगाल के राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि मैंने राज्य सरकार से हेलिकॉप्टर मुहैया कराए जाने की मांग की थी, इस पर ध्यान ही नहीं दिया गया। मुझे 15 नवंबर को मुर्शिदाबाद के एसएनएच कॉलेज के रजत जयंती समारोह में जाना था।

धनखड़ ने दुर्गापूजा कार्यक्रम में अपमान होने का आरोप लगाया था
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पिछले महीने आरोप लगाया था कि दुर्गा पूजा कार्निवाल में ममता सरकार द्वारा उनका अपमान किया गया। सितंबर में धनखड़ जादवपुर विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के साथ तृणमूल के छात्र विंग ने बदसलूकी की थी। धनखड़ उन्हें यूनिवर्सिटी से निकालकर लाए थे। बाद में धनखड़ ने कहा था कि ममता सरकार को इस बात की जानकारी दी थी कि वहां माहौल ठीक नहीं है। जब उन्होंने सुनवाई नहीं की तो मुझे उनके बचाव के लिए जाना पड़ा।

DBApp

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी।- फाइल फोटो