दमकलकर्मी ने पैर में चोट लगने के बाद भी इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया, स्वास्थ्य मंत्री ने ‘रियल हीरो’ कहा



नई दिल्ली. दिल्ली कीअनाज मंडी स्थित फैक्ट्री में आग लगने के बाद, इमारत से लोगों को निकालने गए दमकलकर्मी ने 11 युवकों की जान बचाई।दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दमकलकर्मी राजेश शुक्ला को’असली हीरो’ बताया और कहा कि पैर में चोट के बावजूद उन्होंने अंत तक अपना काम किया।फैक्ट्री में रविवार तड़के भीषण आग लगीथी, जिसमें 43 लोगों की मौत हो गई और50 से ज्यादा जख्मी हो गए।

रेस्क्यू के दौरान राजेश के पैर में चोट भीलग गई। उन्हें एनएलजेपी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। सत्येंद्र जैन ने हॉस्पिटल पहुंचकरउनसे मुलाकात की। राजेश ने कहा- मैं सभी से आग की घटनाओं के बारे में जल्दी और सही जानकारी देने की अपील करता हूं। अगर हमें थोड़ी देर पहले जानकारी मिली होती, तो हम ज्यादा लोगों को बचा सकते थे।

घटना में ज्यादातर मौतें दम घुटने से हुई

दिल्ली फायर सर्विस (डीएफएस) ने कहा कि जिस इमारत में आग लगी उसके लिए फायर क्लीयरेंस नहीं ली गई थी। मरने वालों में ज्यादातर बिहार के रहने वाले हैं।घटना में ज्यादातर मौतें दम घुटने से हुई। 4 मंजिला मकान में चल रही इस फैक्ट्री में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी। मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है। दिल्ली पुलिस ने इमारत के मालिक रेहान को हिरासत में लिया। उसके खिलाफ धारा 304 के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

एक दिन पहले शनिवार को भी इस इलाके में आग लगी थी

दमकल विभाग के अफसर सुनील चौधरी ने बताया कि फैक्ट्री में बैग्स, बॉटल और अन्य सामान रखा हुआ था। दमकलकर्मियों के मुताबिक- अनाज मंडी इलाके में कई फैक्ट्रियों के पास अग्निशमन विभाग अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) भी नहीं है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने बताया कि जिस इमारत में रविवार को आग लगी, उसके ठीक पीछे स्थित एक फैक्ट्री में शनिवार को आग लगी थी। शनिवार को लगी आग में कोई नुकसान नहीं हुआ था।

मुआवजे का ऐलान:

  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिजन को 10-10 लाख और घायलों को 1-1 लाख रुपए सहायता देने का ऐलान किया।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सहायता कोष (पीएमएनआरएफ) से मृतकों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने का ऐलान किया।
  • दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मृतकों के परिजन को 5-5 लाख और घायलों को 25-25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया।
  • बिहार भवन की ओर से जान गंवाने वालों के परिवार को 1-1 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी।
  • मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने मृतकों को 2-2 लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एलएनजेपी अस्पताल जाकर दमकलकर्मी राजेश शुक्ला से मुलाकात की।