राष्ट्रपति बोल्सोनारो का आरोप- हॉलीवुड स्टार डी कैप्रियो ने अमेजन में आग लगवाने का फंड दिया



साओ पाउलो. ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने हॉलीवुड एक्टर लियोनार्डो डी कैप्रियो पर अमेजन के जंगलों में आग लगवाने का आरोप लगाया है। बोल्सोनारो ने शुक्रवार को फेसबुक पर लाइव ब्रॉडकास्ट के दौरान कहा कि कैप्रियो ने अमेजन में आग लगवाने के लिए फंड्स दिए। उन्होंने कैप्रियो का मजाक उड़ाते हुए कहा कि डी कैप्रियोब्राजील के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अभियान का हिस्सा है। वे अमेजन के जंगलों को जलाने वालों के साथ मिले हुए हैं।

पुलिस ने दमकलकर्मियों को गिरफ्तार किया था
अमेजन के जंगलों में बीते तीन महीनों से आग लगी है। ब्राजील पुलिस ने मंगलवार को आग बुझाने में मदद कर रहे 4 दमकलकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का आरोप था कि येदमकलकर्मी जंगलों में आग लगा रहे थे, ताकि एक अंतरराष्ट्रीय एनजीओ को अमेजन में आग बुझाने के नाम पर फंड्स दिलाए जा सकें। जनता के विरोध प्रदर्शन के बाद दमकलकर्मियों को छोड़ दिया गया।गुरुवार को ही बोल्सोनारो के बेटे एडुअर्डो ने ट्वीट में इशारा किया कि दमकलकर्मी जिस एनजीओ के लिए काम कर रहे थे, उसे लियोनार्डो डी कैप्रियो की तरफ से मदद मिल रही है।

एडुअर्डो ने ट्विटर पर कहा कि डी कैप्रियो ने आग लगवाने वाले एनजीओ को 3 लाख डॉलर (2.15 करोड़ रुपए) दान में दिए। इसके अलावा एडुअर्डो ने पर्यावरण के लिए काम करने वाली संस्था ‘वर्ल्ड वाइल्ड फंड फॉर नेचर’ (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ) पर भी आरोपी एनजीओ की मदद का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूडब्ल्यूएफ जलते हुए अमेजन की फोटोज के लिए एनजीओ को 13 हजार पाउंड (करीब 12 लाख रुपए) दे रहा है। हालांकि, डब्ल्यूडब्ल्यूएफ ने एडुअर्डो के आरोपों को झूठा बताया।

एनजीओ पर बिना सबूत के आरोप लगाते रहे हैं बोल्सोनारो
अमेजन के जंगलों में अगस्त में आग भड़की थी। इसे बुझाने के लिए कई देशों ने ब्राजील के लिए मदद का हाथ बढ़ाया। लेकिन बोल्सोनारो लगातार बिना किसी सबूत के आग के पीछे बाहरी एनजीओ का हाथ बताते रहे हैं। हाल ही में वैज्ञानिकों ने कहा था कि अमेजन में लगी आग की वजह सरकार की नीतियां हैं। बोल्सोनारो शासन लगातार अमेजन में निर्माण को मंजूरी दे रहा है, जिससे जंगलों की कटाई में तेजी आई है।

क्या है लियोनार्डो डी कैप्रियो के फंड्स मुहैया कराने की सच्चाई?
लियोनार्डो ने अमेजन में आग भड़कने के बाद अपनी संस्था अर्थ अलायंस के जरिए स्थानीय समूहों को 50 लाख डॉलर (करीब 46 करोड़ रुपए) मुहैया कराने की योजना रखी। उन्होंने इंस्टाग्राम पोस्ट पर जनता से आग बुझाने में मदद की अपील भी की थी। उनके अलावा ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने बोल्सोनारो को आग बुझाने के लिए मदद की पेशकश की थी। हालांकि, बोलसोनारो ने मैक्रों का मजाक उड़ाकर मदद ठुकरा दी थी।

DBApp

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (बाएं) और लियोनार्डो डी कैप्रियो (दाएं)।