कोऑपरेटिव मार्केटिंग सोसायटी में गबन करने के आरोप में पूर्व मैनेजर और लेखाकार के खिलाफ मामला दर्ज




थाना सिटी पुलिस ने नवांशहर कोऑपरेटिव मार्केटिंग कम प्रोसेसिंग सोसायटी में गबन करने के आरोप में सोसायटी के पूर्व मैनेजर व लेखाकार के खिलाफ अमानत में ख्यानत का मामला दर्ज किया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सोसायटी के प्रधान रहे गांव भारटा के रहने वाले हरबंस सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि बैंक के पूर्व मैनेजर (अब रिटायर्ड) परमजीत सिंह निवासी गांव कोटरांझा व लेखाकार कुलवीर सिंह निवासी अलाचौर की ओर से मिलीभुगत करके गबन किया गया है। शिकायत में कहा है कि वे सोसायटी के प्रधान रहे हैं। बतौर प्रधान बैंक के लेन-देन संबंधी कागजात पर उनके व मैनेजर के दोनों के हस्ताक्षर होने चाहिए थे। मगर मैनेजर ने उनकी मंजूरी के बिना ही सोसायटी के स्टेट बैंक से संबंधित ज्वाइंट खाते का एटीएम भी बनवा लिया, जिसके जरिए वह वहां से राशि निकलवाता रहा।

इतन ही नहीं आरोपी मैनेजर ने अपने बेटे को सोसायटी का कर्मचारी दिखाकर उसके नाम पर भी वेतन जारी किया है। हालांकि उसके बेटे ने यहां कभी काम ही नहीं किया है। यही नहीं मैनेजर ने अपने भाई को सोसायटी की एक दुकान किराए पर दे दी। जिसके संबंध में कोई भी प्रस्ताव नहीं पारित किया गया, जबकि उसका किराया भी नहीं वसूला जा रहा। आरोपितों ने सोसायटी के साथ गबन किया है। जिसके चलते शिकायत के आधार पर मामले की जांच आर्थिक अपराध शाखा की तरफ से की गई। जिसके बाद दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

लाखों का गबन किया है दोनों आरोपियों ने

शिकायतकर्ता हरबंस सिंह अडिका का कहना है कि मैनेजर तथा लेखाकार की तरफ से सोसायटी के साथ लाखों का गबन किया गया। उनकी तरफ से सोसायटी के बैंक खातों से रुपए निकलवाए गए। जबकि गलत ढंग से कर्मी दिखाकर उनके नाम पर मेहनताने का गबन किया गया। जबकि अन्य तरह के घोटाले भी किए गए। जो लाखों रुपए में आते हैं। इसी बात को लेकर उनकी तरफ से शिकायत की गई थी। जिसके आधार पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today