ज्वालामुखी से झुलसे लोगों के इलाज के लिए न्यूजीलैंड ने 1292 वर्ग मीटर त्वचा ऑर्डर की



वेलिंगटन. न्यूजीलैंड के व्हाइट आइलैंड में ज्वालामुखी फटने से जख्मी (झुलसे) लोगों के इलाज के लिए सरकार ने 1292 वर्ग मीटर की मानव त्वचा का ऑर्डर दिया है। सोमवार को भड़के ज्वालामुखी में बुधवार तक मरने वालों का आंकड़ा 10 हो गया, जबकि 27 गंभीर रूप से जल गए हैं। ये सभी इंटेन्सिव केयर में भर्ती हैं। बाकी मामूली रूप से झुलसे हैं। हादसे के वक्त आइलैंड पर 47 पर्यटक थे।

चिकित्सा अफसरों का कहना है कि पीड़ितों के इलाज के लिए त्वचा की बेहद जरूरत है। अधिकांश लोग गैस और राख से जख्मी हुए। 27 मरीज 30% से ज्यादा झुलस गए हैं। जिला हेल्थ बोर्ड के अफसर पीटर वाटसन ने कहा कि हम सभी का इलाज कर रहे हैं, लेकिन 1292 वर्ग फीट अतिरिक्त त्वचा की जरूरत होगी। हम अमेरिका से त्वचा मंगा रहे हैं। ऑर्डर भेजा दिया गया। इसके अलावा, ऑस्ट्रेलिया के टिश्यू और स्किन बैंक को भी ऑर्डर दिया गया है।

12 हजार फीट की ऊंचाई तक उठी राख
न्यूजीलैंड की जिओसाइंस एजेंसी नेमंगलवार को बताया था कि ज्वालामुखी का विस्फोट काफी कम समय के लिए था। हालांकि, इसका धुआं और राख आसमान में करीब 12 हजार फीट (3658 मीटर) तक ऊपर पहुंच गई। अब इसके दोबारा भड़कने की संभावना कम है। व्हाइट आइलैंड पर मौजूद इस ज्वालामुखी को काफी सक्रिय माना जाता है। वैज्ञानिकों ने 3 दिसंबर को ज्वालामुखी के भड़कने की आशंका जताई थी। तब इसकी तीव्रता इतनी नहीं थी कि इससे पर्यटकों को कोई खतरा होता। इसी के चलते कोई चेतावनी नहीं जारी की गई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


हादसे के वक्त आइलैंड पर 47 पर्यटक थे।