भारतीय सेना की चलाई गई मुहिम से सेवानिवृत्त सैनिकों व आश्रितों को फायदा




पठानकोट | सेना द्वारा चलाई गई मुहिम से सेवानिवृत्त सैनिकों, आश्रितों को करोड़ों का फायदा मिलने लगा है। सेना की ओर से वर्ष 2019 आश्रितों का वर्ष के तहत सेना ने सेवानिवृत्त सैनिकों एवं उनके आश्रितों के घर-घर जाकर उनकी पेंशन संबंधी समस्याओं की जानकारी प्राप्त करना और उनका तुरंत निवारण करने का कार्य शुरू कर दिया है। उच्च मुख्यालय द्वारा पंजाब के गुरदासपुर, बटाला, अजनाला तथा मुकेरियां क्षेत्र के सेवानिवृत्त सैनिकों एवं उनके आश्रितों की समस्याओं के समाधान करवाने की जिम्मेदारी 17 राजपूताना राइफल्स (सवाइमान) को दी। सवाइमान ने इस कार्य को करने के लिए एक टीम का गठन किया। टीम ने उपरोक्त क्षेत्रों के करीब 126 गांवों का दौरा किया। घर-घर जाकर 2441 सेवानिवृत सैनिकों एवं उनके आश्रितों और 183 वीर नारियों को व्यक्तिगत रूप से मिले और उनकी समस्याओं की जानकारी हासिल की। 17 राजपूताना राइफल्स की टीम ने उनकी समस्या का हल करवाने के लिए अथक प्रयासों से संबंधित अभिलेख कार्यालयों, सेना मुख्यालय (वेटरन सैल) व केंद्रीय पेंशन वितरण प्रक्रिया केंद्र से पत्राचार संचार व व्यक्तिगत मुलाकातों के माध्यम से समस्याओं का समाधान करवाया।

भारतीय सेना के साथ परिवार।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Pathankot News – retired soldiers and dependents benefited from indian army39s campaign