भारत के खिलाफ एफ-16 जेट इस्तेमाल करने पर अमेरिका ने पाकिस्तान को फटकार लगाई थी: रिपोर्ट



वॉशिंगटन. अमेरिका ने भारत के खिलाफ एफ-16 फाइटर जेट्स के इस्तेमाल के लिए पाकिस्तान को अगस्त में फटकार लगाई थी। अमेरिकी मीडिया ग्रुप ‘यूएस न्यूज एंड वर्ल्ड रिपोर्ट’ ने बुधवार कोयह खुलासा किया।रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रम्प प्रशासन की एक शीर्ष अफसर ने एफ-16 के इस्तेमाल पर सवाल उठाते हुए पाकिस्तानी वायुसेना के प्रमुखों को पत्र भी लिखा था। इसमें पाकिस्तान पर बिना जानकारी दिए एफ-16 जेट के इस्तेमाल का आरोप लगाया गया था। अफसर ने इसे दोनों देशों के बीच साझा सुरक्षा समझौते का उल्लंघन बताया था।

पाकिस्तान ने भारत पर हमले के लिए एफ-16 का इस्तेमालकिया था
फरवरी में कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी ठिकानों पर बम बरसाए थे। इसके जवाब में पाकिस्तानी वायुसेना ने एफ-16 विमान भेजकर भारत के सैन्य बेसों को एम्राम मिसाइलों से निशाना बनाने की कोशिश की। भारतीय वायुसेना के कमांडर अभिनंदन वर्तमानने जवाबी कार्रवाई में एक एफ-16 जेट मार गिराया था। भारत ने इसे युद्ध की पहल बताते हुए एफ-16 के इस्तेमाल की शिकायत अमेरिका से की थी। हालांकि, उस वक्त अमेरिका की तरफ से पाकिस्तान से कोई जवाब नहीं मांगा गया।

अमेरिका ने पाकिस्तान को समझौते के तहत दिए हैं एफ-16 विमान
अमेरिका ने पाकिस्तान को एफ-16 विमान तय समझौते के तहत दिए हैं। इसके तहत पाक सरकार बिना अमेरिका को जानकारी दिए जेट्स का इस्तेमाल नहीं कर सकती। एफ-16 का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ युद्ध भड़काने के लिए सीधी कार्रवाई में भी नहीं किया जा सकता। इसके अलावा पाकिस्तान को एफ-16 जेट्स के ठिकाने बदलने की जानकारी भी अमेरिका को देनी होती है। समझौते के मुताबिक, जेट्स को मुहैया कराने वाले कॉन्ट्रैक्टर्स इस बात की भी जानकारी रखते हैं कि पाकिस्तान इन्हें कहां और कैसेइस्तेमाल करता है।

एफ-16 के दुष्ट ताकतों के हाथ में पड़ने का खतरा था: मंत्री
रिपोर्ट के मुताबिक, अगस्त में ट्रम्प प्रशासन में तत्कालीन अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मामलों की मंत्री एंड्रिया थॉमसन ने पाकिस्तान के एयर चीफ मार्शल मुजाहिद अनवर खान को पत्र लिखा। इसमें उन्होंने एफ-16 के ठिकाने बदलने और एम्राम मिसाइलों के इस्तेमाल पर सवाल पूछे। एंड्रिया ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान ने जेट्स और मिसाइलों को अनाधिकारिक सैन्य ठिकानों पर तैनात किया। इससे इन हथियारों के खतरनाक आतंकी ताकतों के हाथ में पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। एंड्रिया ने खान को फटकार लगाते हुए कहा था कि उनका इस तरह का व्यवहार दोनों देशों के बीच साझा सुरक्षा समझौते का उल्लंघन है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


अमेरिका ने शर्तों के तहत पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमान दिए हैं। -फाइल फोटो