सर्दी ने तोड़ा 16 साल का रिकार्ड, सामान्य से 9 डिग्री कम रह रहा तापमान




इस बार दिसंबर के महीने की सर्दी ने पिछले 16 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। अधिकतम तापमान सामान्य से 9 डिग्री कम चल रहा है तथा शीत लहर चलते हुए 10 दिन हो चुके हैं। दिसंबर में इतने लंबे समय तक शीत लहर अंतिम बार 2003 में चली थी। ऐसे में गिरते तापमान व सर्द हवाओं ने लोगों को कांपने के लिए मजबूर कर दिया है। पहाड़ों में हो रही बर्फबारी व मैदानों में चल रही शीत लहर ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। शहर का न्यूनतम तापमान 4 डिग्री तक पहुंच गया है। उधर, मौसम विभाग ने अभी और ठंड बढ़ने की आशंका जताई है। कंपकंपाने वाली इस ठंड, बढ़ती ठिठुरन और कोहरे की वजह से यातायात पर भी ब्रेक लग गया है तथा वाहन जहां रेंगते हुए चलते दिखे, तो दोपहिया वाहन चालकों ने अपने चेहरे तेज हवाओं से बचाते हुए चल रहे थे। वीरवार को अधिकतम तापमान 13 डिग्री रहा, जोकि सामान्य से 9 डिग्री कम है।

आज से ओर तेज होगी शीतलहर

मौसम विभाग के अनुसार अभी सर्दी में कमी नहीं आने वाली है। शुक्रवार से शीतलहर और तेज होगी। मौसम वैज्ञानिक बता रहे हैं कि 27 दिसंबर से ठंड के साथ घना कोहरा भी पड़ना शुरू हो जाएगा। 29 और 30 दिसंबर तक घना कोहरा पड़ेगा क्योंकि इस दौरान हवा की गति कम होगी। जिले में लगातार दस दिनों से शीतलहर जारी है। सन 1997 में लगातार 17 दिनों तक शीतलहर का प्रकोप चला था व सूर्य देव के दर्शन नही हुए थे।

तापमान में अभी आएगी दो डिग्री की गिरावट

इस हफ्ते के अंत में तापमान में 2 डिग्री सेल्सियस की और गिरावट दर्ज की जाएगी। सर्दी और शीत लहर की वजह से मौसम और खराब होने वाला है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक रात के तापमान में और कमी दर्ज की जाएगी, जिसकी वजह से शीत लहर तेज होगी। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक हिमालयी क्षेत्रों की बर्फीली हवा की वजह से भी नवांशहर और उसके आसपास के इलाकों में ठंड बढ़ी है। इसकी वजह से औसत तापमान में कमी आई है। अधिकतम तापमान 9 औसत के हिसाब से 9 डिग्री कम चल रहा है जबकि न्यूनतम तापमान पिछले वर्षों की तरह लगभग एक ही जगह पर टिका हुआ है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today