22 साल बाद फिर शुरू हुई लाहौर-वाघा शटल ट्रेन सेवा, रोजाना तीन चक्कर लगाएगी



इस्लामाबाद. पाकिस्तान ने 22 साल बाद फिर से लाहौर-वाघा शटल ट्रेन सेवा शुरू कर दी है। रेलमंत्री शेख रशीद ने इस ट्रेन का शनिवार कोऔपचारिक उद्घाटन किया। इस ट्रेन के दोबारा शुरू होने के बाद अब लाहौर से वाघा बार्डर तक जाने वाले यात्रियों को कमसमय लगेगा। यह शटल सेवा रोजाना तीन चक्कर लगाएगी। इसमें एक हजार यात्री वाघा तक जा सकेंगे। इसके लिए यात्रियों को प्रति व्यक्ति 30 रुपए किराया देना होगा।

वाघा बार्डर पर रोजाना होने वाली सैनिकों की परेड को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग आते हैं। शटल सेवा बंद होने की वजह से लोगों को बस से वहां तक जाना पड़ता था। ऐसे में समय अधिक लगता था। अब ट्रेन सेवा शुरू हो जाने से लोगों का वक्त बचेगा। 1997 तक यह ट्रेन सेवा चालू रही। लेकिन फिर संचालन और सुरक्षा कारणों के चलते इसे बंद कर दिया गया था।

रेल मंत्री ने कहा- 15 दिन के भीतर लाहौर-रायविंड के बीच ट्रेन शुरू होगी

शेख रशीद का कहना है कि वो रेल रूट के जरिए देश के उपनगरों के साथ लाहौर को जोड़ना चाहते हैं। लाहौर-वाघा शटल सेवा इसमें पहला कदम है। इसके बाद अगले 15 दिनों के भीतर लाहौर से रायविंड के लिए एक और ट्रेन शुरू होगी। वहीं जनवरी में लाहौर से गुजरांवाला के बीच ट्रेन सेवा शुरू होगी। इसे प्रधानमंत्री इमरान खान हरी झंडी दिखाएंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


रेलमंत्री शेख रशीद ने लाहौर-वाघा शटल सेवा का औपचारिक उद्घाटन किया।