अच्छा काम करने पर 2 महिलाओं सहित 10 सफाई सेवक सम्मानित





डीसी संदीप हंस ने मोगा को साफ-सफाई में देश के अग्रणी जिलों में लाने के लिए लोगों को मिलकर काम करने का आह्वान किया। इंडो सोवियत फ्रेंडशिप कॉलेज फॉर फार्मेसी में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के फील्ड आउटरीच ब्यूरो ने सेहत स्वच्छता एक्शन प्लान, जल संरक्षण, प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने के लिए विशेष जागरूकता प्रोग्राम करवाया गया। डीसी संदीप हंस ने कहा कि पंजाब समेत अन्य शहरों में भी गंदगी कारण होते प्रदूषण के लिए हम सब जिम्मेदार हैं।

इस प्रोग्राम के दौरान मौजूद नौजवान विद्यार्थियों, एनसीसी कैडटों, अलग-अलग गांवों से आए सरपंचों व पंचों समेत गार्डियन ऑफ गवर्नेंस के सदस्य मौजूद रहे। संदीप हंस ने कहा कि यदि हम अपने घरों में ही गीले कचरे को अलग करके खाद बना लें और सूखे कचरे को अलग कर दें ए तो कचरे के निपटारे की समस्या नहीं रहेगी। उन्होंने एनसीसी कैडेटों और नौजवानों को इस तरफ लोगों को जागरूक करने के लिए कहा। समय की मांग है कि हम प्लास्टिक के लिफाफों का इस्तेमाल बंद करके अपने पर्यावरण को बचाइए और अपने क्षेत्र को साफ़ सुथरा रखने व गंदे पानी को नदियों तालाबों में न मिलाएं। इस मौके पर स्वच्छ भारत अभियान के तहत साफ सफाई के लिए बहुत बढ़िया काम करने वाली दो महिलाओं समेत नगर निगम के 10 सफाई सेवकों को मंत्रालय के विभाग के प्रमाण पत्रों के साथ सम्मानित भी किया गया। जल सप्लाई एवं सेनिटेशन विभाग के सब डिवीजनल इंजीनियर कार्तिक जिंदल ने कहा कि सेंट्रल अंडर ग्राउंड वाटर बोर्ड ने पंजाब के 142 ब्लॉकों में से 110 ब्लॉक डार्क जोन घोषित किए हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today