ट्रक में छिपे आतंकियों ने टोल प्लाजा पर गोलियां चलाईं; मुठभेड़ में जैश के 3 दहशतगर्द मारे गए, जवान जख्मी



श्रीनगर.जम्मू-श्रीनगरनेशनल हाईवे पर शुक्रवार तड़के एक ट्रक में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया। ट्रक कोनगरोटा केबन टोल प्लाजा पर चेकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी करइलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। आईजी (जम्मू) मुकेश सिंह ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकिएक पुलिसजवान जख्मी हो गया। टोल प्लाजा के पास 2 धमाकों की आवाज भी सुनी गई। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का कजिन है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा- जैश के आतंकियों को ले जा रहे ट्रक ड्राइवर का नाम समीर डार है। पुलवामा का रहने वाला समीर ही इन आतंकियों का मुख्य हैंडलर था। समीर पिछले साल पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का कजिन है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। उसका भाई मंजूर डार भी आतंकवादी था, जो 2016 में मारा गया था।पुलिस ने ट्रक ड्राइवर समीर, कंडक्टर और ग्राउंड हैंडलर को गिरफ्तार कर लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

चेकिंग के दौरान आतंकियों नेफायरिंग की

डीजीपी के मुताबिक, ट्रक में 3 से 4 आतंकी छिपे थे। चेकिंग के दौरान उन्होंने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। ये आतंकी श्रीनगर पहुंचना चाहते थे। मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा को देखते हुए हाईवे पर आवाजाही बंद कर दी गई। साथ ही प्रशासन ने नगरोटा में सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी किया।

दो हफ्ते में चौथी मुठभेड़, 8 आतंकी मारे गए
25 जनवरी को ही दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतिपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकियों को मार गिराया था। इससे पहले 21 जनवरी को भी अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) शहीद हुए थे। 20 जनवरी को शोपियां जिले में एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


टोल प्लाजा पर हमले के बाद सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया।


पुलिस के मुताबिक, इसी ट्रक में 3-4 आतंकी छिपे थे।