वैरागमयी संकीर्तन से प्रभु चरणों से जोड़ा





नवांशहर। चंडीगढ़ चौक पर स्थित श्री गुरुद्वारा सिंह सभा में महिंदर सिंह लूथरा (काला) की अंतिम अरदास अायोजित की गई। सबसे पहले मीरी पीरी जगाधरी वाली महिलाओं के जत्थे ने वैरागमयी संकीर्तन कर संगत को वाहेगुरु जी के साथ जोड़ा। उन्होंने बताया कि जब भी इंसान का समय समाप्त हो जाता है तो वह परमात्मा उस इंसान को अपने पास बुला लेता है। इसके बाद श्रद्धांजलि देते हुए समाज सेवक जसपाल सिंह हाफिजाबादी ने बताया कि महिंदर सिंह काला दानवीर व्यक्ति थे। अंत में उनके बेटे गुरप्रीत सिंह हैप्पी के पगड़ी बांधने के साथ अन्य रस्में अदा की। इस मौके पूर्व विधायिका गुरइकबाल कौर बबली, नगर कौंसिल प्रधान ललित मोहन पाठक, चरनप्रीत कौर, ज्योति अरोड़ा, लखविंदर कौर, गुरविंदर कौर, वरिंदर कौर, अमरजीत सिंह, दिनेश कुमार, पार्षद परम सिंह खालसा, डिंपल भारद्वाज, रीतू जोशी, गुरदीप सिंह रीहल, रमन उम्मट, इंद्रजीत लडोइया, सरताज मांगेवालिया, जोगिंदर सिंह आदि मौजूद रहे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Nawanshahr News – prabhu connected with vairagamayi sankirtana