2018-19 में जीडीपी ग्रोथ 6.8% नहीं बल्कि 6.1% थी, सरकार ने संशोधित आंकड़े जारी किए



नई दिल्ली. सरकार ने बजट से एक दिन पहले 2018-19 की जीडीपी ग्रोथ के संशोधित आंकड़े जारी किए। ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष (2018-19) में जीडीपी ग्रोथ 6.8% नहीं बल्कि 6.1% रही थी। माइनिंग, मैन्युफैक्चरिंग और फार्म सेक्टर की गतिविधियों में सुस्ती की वजह से ग्रोथ ज्यादा प्रभावित हुई।

तिमाही ग्रोथ 6 साल के निचले स्तर पर, सालाना ग्रोथ 11 साल में सबसे कम

जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ सिर्फ 4.5% रह गई। यह 6 साल में सबसे कम तिमाही ग्रोथ है। यह लगातार 5वीं तिमाही थी जब ग्रोथ में गिरावट दर्ज की गई। दिसंबर तिमाही के आंकड़े अभी जारी नहीं हुए हैं। चालू वित्त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ 5% रहने का अनुमान है। यह 11 साल में सबसे कम होगी। हालांकि, अगले वित्त वर्ष से ग्रोथ बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। शुक्रवार को पेश आर्थिक सर्वेक्षण में अनुमान जारी किया गया है कि 2020-21 में जीडीपी ग्रोथ 6% से 6.5% रह सकती है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सरकार ने बजट से पहले जीडीपी ग्रोथ के संशोधित आंकड़े जारी किए।