एम्स में सामान्य, यूरोलॉजी और गेस्ट्रोइंटेस्टाइन सर्जरी की वेटिंग हो जाएगी आधी, अभी 6 से 12 माह की है



नई दिल्ली.एम्स में ऑपरेशन का इंतजार करने वाले मरीजों को जल्द राहत की संभावना है। प्रशासन ने अस्पताल परिसर में बने सर्जिकल ब्लॉक को शुरू करने की कार्रवाई तेज कर दी है। कहा जा रहा है कि सर्जिकल ब्लॉक मई के अंत तक शुरू हो जाएगा। यह ब्लॉक दो फेज में शुरू होगा। पहले फेज में 100 बेड और फिर दूसरे फेज में 100 बेड शुरू होंगे। 12 ऑपरेशन थिएटर वाले इस ब्लॉक में कुल 200 बेड होंगे। यह ब्लॉक शुरू होने से किडनी ट्रांसप्लांट और अन्य सर्जरी की वेटिंग कम होने की संभावना है।

वेटिंग ज्यादा होने से मरीजों को जाना पड़ता है दूसरे अस्पताल

सर्जिकल ब्लॉक मेंसामान्य सर्जरी, यूरोलॉजी और गेस्ट्रोइंटेस्टाइन के ऑपरेशन करने का प्लान है। तीनों विभागों में इस वक्त ऑपरेशन थिएटर के साथ बिस्तरों की संख्या भी कम है। इसके कारण ऑपरेशन की वेटिंग लंबी है। यूरोलॉजी व गैस्ट्रोइंटेस्टाइन सर्जरी के लिए भी 6 महीने से लेकर एक साल तक की वेटिंग है। इसके कारण मरीजों को दूसरे अस्पताल जाकर ऑपरेशन करना पड़ता है। जल्द ही फायर क्लीयरेंस के लिए एम्स अप्लाई करने वाला है।

तकनीकी खामियों की वजह से ने शुरू हो पाए थे ऑपरेशन थियेटर

सर्जिकल ब्लॉक तैयार हुए तो दो साल से ज्यादा का वक्त हो गया लेकिन ऑपरेशन थियेटर में तकनीकी खामियों के कारण इसमें अब तक इलाज शुरू नहीं हो पाया है। डॉक्टरों के कहने पर नए सिरे से अत्याधुनिक मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर तैयार किए गए हैं। सर्जिकल ब्लॉक के नजदीक ही नई ओपीडी बिल्डिंग में एम्स के 6 विभागों की सेवाएं बीते सोमवार से शुरू हो चुकी हैं। एम्स प्रवक्ता के मुताबिक नया सर्जिकल ब्लॉक शुरू होने के बाद सर्जरी की स्पीड करीब-करीब डबल हो जाएगी, क्योंकि मौजूदा समय में इन विभागों में 6 ओटी हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


एम्स दिल्ली (फाइल फोटो)